स्वतंत्रता दिवस क्यों मनाया जाता है ?

स्वतंत्रता दिवस ही एक ऐसा त्योहार है जो कि कॉमन है यानि कि लगभग हर देश में मनाया जाता है, क्यों कि लगभग प्रत्येक देश कभी न कभी किसी का गुलाम रहा है और जिस दिन उन्हें इस गुलामी से आजादी मिली उस दिन को याद करके स्वतंत्रता दिवस के रुप में मनाते हैं।

यह मात्र एक ऐसा त्योहार है जोकि किसी धर्म, जाति या क्षेत्र विशेष से संबधित नहीं है।

आज इस पोस्ट में हम भारतीय स्वतंत्रता दिवस यानी 15 अगस्त के साथ साथ उन सभी देशों की तिथियों के बारें में भी जानेंगे जहाँ स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है।

तो आइये सबसे पहले हम जानते हैं स्वतंत्रता दिवस किन-किन देशों में कब-कब मनाया जाता है।

स्वतंत्रता दिवस की सूची-(List of Independence Days by Country)

देश का नाम स्वतंत्रता दिवस
Albania 28-November
Angola 11-November
Antigua and Barbuda 1-November
Armenia 28-May
Austria 26-October
Bahamas, The 10-July
Bangladesh 26-March
Belarus 3-July
Belize 21-September
Bolivia 6-August
Botswana 30-September
Brunei 1-January
Burkina Faso 5-August
Cambodia 9-November
Canada 1-July
Central African Republic 13-August
Chile 18-September
Colombia July 20 and August 7
Congo, Democratic Republic of the 30-Jun
Costa Rica 15-September
Croatia 8-October
Cyprus 1-October
Djibouti 27-Jun
Dominican Republic 27-February
Ecuador 10-August
Equatorial Guinea 12-October
Guinea-Bissau 24-September
Haiti 1-January
Hong Kong 1-July
Iceland 17-Jun
Indonesia 17-August
Ireland 24-April
Jamaica 6-August
Kazakhstan 16-December
Kiribati 12-July
Lithuania 16-February
Madagascar 26-Jun
Malaysia 31-August
Mali 22-September
Mauritania 28-November
Mexico 16-September
Mongolia December 29[4]
Morocco 18-November
Myanmar 4-January
Nigeria 1-October
Northern Cyprus 15-November
Oman 18-November
Panama 28-November
Paraguay 15-May
Philippines 12-Jun
Portugal 1-December
Republic of Korea (South Korea) 1-Mar
Romania 9-May
Rwanda 1-July
Saint Lucia 22-February
Slovenia December 26 and June 25
Somalia 1-July
South Sudan 9-July
Sudan 1-January
Sweden 6-Jun
Syria 17-April
Tajikistan 9-September
Togo 27-April
Tonga 4-Jun
Tunisia 20-March
Tuvalu 1-October
Ukraine 24-August
United States 4-July
Uzbekistan 1-Septmber
Venezuela 5-July
Yemen 30-November
Zimbabwe 18-April
Saint Vincent and the Grenadines 27-October
Samoa 1-January
São Tomé and Príncipe 12-July
Senegal 4-April
Serbia 15-February
Seychelles 29-Jun
Sierra Leone 27-April
Singapore 9-August
Namibia 21-March
Nauru 31-January
Netherlands, The 26-Jul
Nicaragua 15-September
Niger 3-August
Kosovo 17-February
Kuwait 25-February
Kyrgyzstan 31-August
Laos 22-October
Latvia 18-November
Lebanon 22-November
Lesotho 4-October
Liberia 26-July
Estonia 24-February
Eswatini 6-September
Fiji 10-October
Finland 6-December
France 14-July
Gabon 17-August
Gambia, The 18-February
Georgia May 26 and April 9
Germany 3-October
Ghana 6-March
Greece 25-March
Grenada 7-February
Guatemala 15-September
Afghanistan 19-August
Algeria 5-July
Anguilla 30-May
Argentina 9-July
Australia 3-March
Azerbaijan 28-May
Bahrain 16-December
Barbados 30-November
Belgium 21-July
Benin 1-August
Bosnia and Herzegovina 1-March
Brazil 7-September
Bulgaria 3-March
Burundi 1-July
Cameroon 1-January
Cape Verde 5-January
Chad 11-August
China 1-October
Comoros 6-July
Congo, Republic of the 15-August
Côte d’Ivoire 7-August
Cuba 1-January
Czech Republic 28-October
Dominica 3-November
East Timor 20-May
El Salvador 15-September
Eritrea 24-May
Guinea 2-October
Guyana 26-May
Honduras 15-September
Hungary 23-October
India 15-August
Iraq 3-October
Jordan 25-May
Kenya 12-December
Libya 24-December
Macau 20-December
Malawi 6-July
Maldives 26-July
Malta 21-September
Mauritius 12-March
Moldova 27-August
Montenegro 21-May
Mozambique 25-Jun
North Macedonia 8-September
Norway 17-May
Pakistan 14-August
Papua New Guinea 16-September
PDRK (North Korea) 15-August
Peru 28-July
Poland 11-November
Qatar 18-December
Russia 12-Jun
Saint Kitts and Nevis 19-September
Slovakia 17-July
Solomon Islands 7-July
South Africa 11-December
Sri Lanka 4-February
Suriname 25-November
Switzerland 1-August
Taiwan 10-October
Tanzania 9-December
Tibet 13-February
Trinidad and Tobago 31-August
Turkmenistan 27-October
Uganda 9-October
United Arab Emirates 2-December
Uruguay 25-August
Vanuatu 30-July
Vietnam 2-September
Zambia 24-October

 

15 August 1947 Day (भारतीय स्वतंत्रता दिवस )

15 August ही वो दिन था जिस दिन भारत को 200 साल गुलामी झेलने के बाद स्वतंत्रता मिली थी, इस आजादी को दिलाने में जिन जिन लोगों का योगदान रहा है उनके योगदान को न हम भुलें है और न ही कभी भुलाया जायेगा, लेकिन ऐसे भी स्वतंत्रता सेनानी रहें है जिनका इतिहास में नाम ही नहीं आया और न हीं उन्हें याद किया जाता है।

तो आइये इस स्वतंत्रता दिवस पर उनके बारे जानते है, उन्हें याद करते हैं जिनके योगदान को नजरअदांज नहीं किया जा सकता, जिनका इतिहास के पन्नों में नाम ही नही दर्ज किया गया।

1-कोडी काथा कुमारन- 

कोयम्बटूर के रहने वाले कुमारन ऐसे स्वतंत्रता सेनानी थे जिन्होंने अपनी जान गंवा दी पर पर भारतीय झड़े को नीचे नहीं गिरने दिया. सन 1932 में कुमारन ने अंग्रेजों के खिलाफ एक रैली निकाली थी और भारतीय झंडे को लेकर सबसे आग चल रहे थे, अंग्रेजी शासनकाल मे भारतीय झंडा बैन था, इसलिए उन पर लाठी चार्ज किया गया वह बेहोश हो गये पर उन्होंने झंडे को गिरने नही दिया, आखिर में उनकी वहीं पर मौत हो गयी।

2-भीकाजी कामा-

हमारे देश में आपने बहुत जगहों पर भीकाजी कामा के नाम से रोड़ के नाम रखे गये हैं, पर उनके योगदान के बारें में बहुत ही कम लोग जानते होगें.

उनका भी स्वतंत्रता दिलाने में उतना ही योगदान था जितना अन्य का इसके साथ ही वह उस समय भारत में फैली हुई लैगिंग असमानता के वह बेहद खिलाफ थीं और उसके लिए वह लड़ी भी।

3-मातंगिनी हाजरा-

मातंगिनी हाजरा एक ऐसी क्रांतिकारी थी जिन्होंने असहयोग आन्दोलन और भारत छोड़ो आन्दोलन में बढ़ चढकर भाग लिया और आंदोलन के दौरान उनपर गोलियां चला दी गयी, उन्हे तीन गोलियां लगीं पर उन्होंने भारतीय झंडे को नीचे नहीं गिरने दिया।

4-तारारानी श्रीवास्तव-

तारारानी श्रीवास्तव को एक जुलूस के दौरान गोली मार दी गयी, वह बिहार के सिवान थाने पर जुलूस लेकर जा रहीं थीं उन्होंने अपने घाव पर पट्टी बांध ली और भारतीय झंडे को लेकर आगे बढती और अंत में उनकी मौत हो गयी।

5-पीर अली खान-

पीर अली खान उत्तरप्रदेश के आजमगढं के रहने वाले थे और 1857 के विद्रोह में शामिल हुए थे। वह बतपन में ही पटना भागकर आ गये थे और यही पर उन्होंने एक किताब की दुकान खोल ली थी, यह दुकान स्वतंत्रता सेनानियों के मिलने का अड्डा हुआ करती थी, यही पर वह अंग्रेजों के खिलाफ प्लान बनाया करते थे।

लेकिन इस प्लानिंग का अंग्रेजों को पता लग गया और यह जानकारी पीर अली खान को भी पता लग गयी थी कि उनकी प्लानिंग के बारे में अंग्रेजो को पता लग चुका है अतः उन्होने अंग्रेजों पर हमले का प्लान बनाया, हमले से पहले ही इनके सभी साथी पकड़ लिये गये और उन्हें फांसी दे दी गयी।

और कुछ दिन पुछताछ के पश्चात इन्हे भी फांसी दे दी गयी।

6-कमलादेवी चट्टोपाध्याय-

यह भी 1857 के स्वतंत्रता आंदोलन में शामिल हुयी थी, जिसके कारण इन्हे इनके 14 और साथियों के साथ फांसी दे दी गयी थी।

7-बेगम हजरत महल-

यह अवध के नवाब जो कि वर्तमान में लखनऊ है कि बेगम थी। 1857 के विद्रोह को अंग्रेजी शासन के द्वारा समाप्त किये जाने के बाद उन्हें देश छोड़कर पड़ोसी देश नेपाल में शरण लेनी पड़ी, जहां कुछ समय बाद इनकी मौत हो गयी।

8-सेनापति बापट-

सेनापति बापट सत्याग्रह आंदोलन के नेता थे और इन्होंने 15 अगस्त 1947 को स्वतंत्रता मिलने के बाद सबसे पहले पुणे में झंड़ा लहराया था।

9-अरुणा आसिफ अली-

इन्होंने 1942 भारत छोड़ो आन्दोलन में भाग लिया था और ग्वालिया टैंक मैदान में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का झंड़ा फहराया था।

10-पोटी श्रीरामुलू-

पोटी श्रीरामुलू अंहिसा पर चलने वाले महात्मा गांधी के कट्टर समर्थक थे, गांधी जी कहा करते थे कि अगक पोटी श्रीरामुलू जैसे लोंग हो तो एक साल के अंदर ही स्वतंत्रता मिल जायेगी।

 

इस पोस्ट में आपने जाना कि स्वतंत्रता दिवस क्यों मनाया जाता है, भारत में स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को क्यों मनाया जाता है विभिन्न देशों में स्वतंत्रता दिवस कब मनाया जाता है

अगर इस पोस्ट में मुझसे कोई गलती हुई तो उसे कंमेट में जरूर बतायें मै उसे सुधारुंगा और आपके सुझाव हमारे लिए महत्वपूर्ण होगा।

धन्यवाद।